IMG_5822.JPG?sno=2 

 

गंगासागर की लड़ाई

1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान पूर्व पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) स्थित गंगासागर में एक भीषण लड़ाई लड़ी गई। तब भारत की 14 गार्डस रेजिमेन्ट को गंगासागर क्षेत्र में किलाबंदी किये हुए पाकिस्तानी सैनिक अड्डे पर कब्ज़ा करने का कार्य सौंपा गया। भारतीय सैनिकों ने योजनाबद्ध तरीके से 03 दिसम्बर 1971 की सुबह के 2 बजे सैनिक कार्रवाई शुरू की। शत्रु की भारी गोलाबारी के बीच, बंकरो को ध्वस्त करते हुए, वे अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ते चले गए। उनके लक्ष्य के करीब पहुँचने पर पाकिस्तानी सैनिकों ने एक अति सुरक्षित दुमंज़िला इमारत से गोलाबारी कर, बड़ी संख्या मे भारतीय सैनिकों को हताहत कर दिया। परन्तु भारतीय सैनिक रुके नहीं और असाधारण साहस एवं इच्छाशक्ति का प्रदर्शन करते हुए, अन्ततः दो दिन की भीषण लड़ाई के बाद लक्ष्य पर कब्ज़ा करने में सफल रहे। इस तरह भारतीय सैनिकों ने असाधारण शौर्य का परिचय देते हुए एक अत्यन्त कठिन लक्ष्य को सफलतापूर्वक प्राप्त किया। 

 

BATTLE OF GANGASAGAR

The Battle of Gangasagar was one of the most fiercely fought battles in then East Pakistan during India - Pakistan War of 1971. 14 GUARDS was given the task of capturing heavily fortified Pakistani military position in village Gangasagar. With meticulous planning, Indian troops commenced their offensive at 0200 hrs on 03 December 1971 and continued their advance towards the objective by clearing bunker after bunker against intense and close enemy shelling. Very close to the objective, Pakistani soldiers opened Medium Machine Gun fire from a two storey fortified building inflicting heavy casualties on Indian troops. This, however, did not deter the Indian soldiers who displayed unparalleled courage and determination during the operation and finally secured the objective after a pitched battle of two days. An impossible mission was accomplished and bravery of Indian soldiers was at its best display that turned the battle in their favour.