IMG_5834.JPG?sno=1 

 

लोंगेवाला की लड़ाई

लोंगेवाला की लड़ाई 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान पश्चिमी सीमा पर लड़ी जाने वाली निर्णायक लड़ाईयों में से एक थी। 4/5 दिसम्बर 1971 की रात को टैंको तथा तोपखाने से लैस करीब 4000 पाकिस्तानी सैनिकों की फौज ने लोंगेवाला पर हमला बोल दिया। उस समय वहाँ पर भारत की 23 पंजाब रेजिमेन्ट तैनात थी। दुश्मन के भारी आक्रमण के बावजूद बहादुर भारतीय सैनिकों ने लोंगेवाला पोस्ट पर अपना कब्ज़ा बनाए रखा। 5 दिसम्बर 1971 की सुबह को भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने अपनी विध्वंसक गोलाबारी से पाकिस्तानी सेना को आगे बढ़ने से रोक दिया। भारतीय वायुसेना के 122 स्क्वाड्रन के विमानों के इस भीषण हमले ने पाकिस्तान के 36 टैंको तथा 100 वाहनों को नष्ट कर दिया। इस लड़ाई में लगभग 200 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए। 

 

BATTLE OF LONGEWALA

The Battle of Longewala was one of the major decisive battles fought on the Western sector during the India - Pakistan War of 1971. On the night of 04/05 Dec 1971, Pakistan forces comprising 4000 soldiers, T-59 & Sherman tanks, and a medium artillery battery attacked Longewala border post held by 23 PUNJAB. Inspite of being outnumbered, Indian soldiers gallantly held the post and requisitioned support of IAF. At the dawn of 5th Dec 1971, the Hunter aircraft based at Jaisalmer wreaked havoc on the Pakistani troops with their devastating fire power. The Hunters of 122 Squadron flew 18 sorties and destroyed 36 enemy tanks, 100 vehicles and killed 200 Pakistan soldiers in a very short span of time thwarting the advance of Pakistani army in its tracks.