स्मारक और इसका महत्व



1.     युद्ध स्मारक     युद्ध स्मारक एक इमारत, स्मारक, प्रतिमा या कोई अन्य भवन होता है जो किसी युद्ध या विजय का उत्सव मनाने अथवा युद्ध में शहीद या घायल हुए सैनिकों के पुण्यस्मरण में निर्मित किया जाता है।एक युद्ध स्मारक,पर्यटकों को निर्मित स्थल के साथ सचेतन रूप से जुड़ने का अवसर प्रदान करता है और फिर इसी के माध्यम से वे उस संस्था और व्यक्तियों से जुड़ जाते हैं जिनकी स्मृति में यह बनाया गया है।स्मारक गहन और भावप्रवण अनुभव प्रदान करता है और भावी पीढ़ियों के लिए प्रेरणा का प्रतीक बन जाता है।

2.     आवश्यकता     स्वतंत्रता के बाद से, भारतीय सशस्त्र सेनाओं के 25,000 से ज्यादा सैनिकों ने देश की प्रभुसत्ता और अखंडता की रक्षा में सर्वोच्च बलिदान दिया। अतः राष्ट्रीय समर स्मारक,सशस्त्र सेनाओं के प्रति राष्ट्र की कृतज्ञता का प्रतिनिधित्व करता है। यह स्मारक हमारे नागरिकों में अपनत्व,उच्च नैतिक मूल्यों, बलिदान और राष्ट्र गौरव की भावना को सुदृढ़ करेगा। यह स्मारक स्वतंत्रता के बाद विभिन्न संघर्षों, संयुक्त राष्ट्र ऑपरेशनों, मानवीय सहायता और आपदा राहत तथा बचाव ऑपरेशनों में हमारे सैनिकों के बलिदान का साक्षी रहेगा। यह स्मारक,राष्ट्र के प्रति नि:स्वार्थ सेवा के शानदार उदाहरण के तौर पर, हमारी सशस्त्र सेनाओं की उच्च सैन्य परंपराओं की मिसाल होगा। 
 

we/IMG_5823.JPG?galleryPage=4&article_id=2
---- 

 

we/IMG_5819.JPG?galleryPage=4&article_id=2
--- 

 

we/IMG_5825.JPG?galleryPage=4&article_id=2
--- 

 

we/IMG_5829.JPG?galleryPage=4&article_id=2
--- 

 

we/IMG_5838.JPG?galleryPage=4&article_id=2
---